राष्ट्रीय लोक अदालत में निस्तारित हुए 3086 मामले, 237605 अर्थदण्ड वसूले गये

राष्ट्रीय लोक अदालत में निस्तारित हुए 3086 मामले, 237605 अर्थदण्ड वसूले गये

बलिया। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली के निर्देश पर दीवानी न्यायालय के प्रांगण में राष्ट्रीय लोक अदालत जिला जज सैय्यद आफताब हूसैन रिजवी की अध्यक्षता में लगाया गया। इसमे दीवानी न्यायालय के समस्त न्यायिक अधिकारीगण, बैंक प्रबन्धकों तथा राजस्व विभाग के अधिकारियों द्वारा कुल 3086 वाद निस्तारित किया गया। 

अर्थदण्ड के रूप में 237605 रुपये  वसूला गया। बैंक द्वारा 2,75,13,885 रुपये का समझौता कराया गया जिसमे 10165410 नकद वसूले गये। इसके अलावा दूर संचार विभाग द्वारा प्री - लिटिगेशन के 34 वाद निस्तरित करते हुए 1,28,550 वसूले।

लोक अदालत में सत्य प्रकाश त्रिपाठी प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय ने वैवाहिक के 11 वाद, चन्द्रभानू सिंह अपर जनपद न्यायाधीश कोर्ट सं0 1ने फौजदारी 02, दयाराम अतिरिक्त प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय ने फौजदारी 05 वाद, वैवाहिक 07 वाद , दिनेश कुमार मिश्रा विशेष न्यायाधीश (एस.सी./एस.टी. एक्ट) - फौजदारी 01 वाद अर्थदण्ड, प्रण विजय सिंह अपर जनपद न्यायाधीश कोर्ट सं0 7 (एन.डी.पी.एस. एक्ट) फौजदारी 02 वाद, शिव कुमार-द्वितीय अपर जनपद न्यायाधीश कोर्ट सं0- 8 (पाक्सोएक्ट)  फौजदारी 02 वाद, गोविन्द मोहन विशेष न्यायाधीश (ई0सी0एक्ट)/अपर जनपद न्यायाधीश विद्युत अधीनियम 21 वाद, रमेश कुशवाहा, सी0जे0एम0 फौजदारी 409 वाद, श्रीमती पूनम कर्णवाल सिविल जज (सि0डि) - सिविल 09 वाद, यशपाल, ए0सी0जे0एम0 प्रथम - फौजदारी 213, अमित कुमार सिविल जज (जू0डि0) पूर्वी सिविल 20 वाद, अनुज कुमार ठाकूर न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम फौजदारी 422 वाद, मृत्युंजय कुमार, सिविल जज (जू0डि0) पश्चिम सिविल 21 वाद, विजय भान न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वितीय  फौजदारी 271, विमलेश सरोज सिविल जज (जू0डि0) द्वितीय फौजदारी 148, सिविल  01 वाद, अविनाश कुमार मिश्रा अपर सिविल जज (जू0डि0) चतुर्थ फौजदारी - 68 वाद, राहुल आनन्द, अपर सिविल जज (जू0डि0) प्रथम - फौजदारी - 35 वाद, अरूण कुमार गुप्ता, सिविल जज (जू0डि0)/एफ.टी.सी. - फौजदारी 18 वाद निस्तरित किये।